adch

ads-vi

मंगलवार, 19 दिसंबर 2017

'/>

इन तरीको से आप अपने स्मार्टफोन डाटा को हैकर्स से बचा सकतें हैं

आजकल सभी लोग स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते हैं ,पर ज़्यदातर लोग उसकी सिक्योरिटी को लेकर संजीदा नहीं होते हैं ,और मोबाइल डिवाइस को लॉक करना और पासवर्ड सेट करना झंझट का काम लगता हैं।
हैकर्स ऐसे ही लोगो की तलाश में रहतें हैं ,बहुत ही आसानी से वो आप के सवेदनशील जानकारी को अपने कब्जे में कर लेते हैं 

उदाहरण के तौर पर, आपका ईमेल अकाउंट हैक हो जाने से बैंकिंग और अन्य संवेदनशील पासवर्ड लीक होने का खतरा बढ़ जाता है।
जैसे की आपकी ईमेल ,मोबाइल फोटोज ,कॉन्टेक्ट्स  वीडियोस और अन्य निजी जानकारियां , आप कुछ सिंपल स्टेप्स उठा कर  इन् सभी समस्याओं से बच  सकतें हैं ,यहाँ हम आप को बताएँगे  कुछ ऐसे  स्टेप्स जिसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन को सिक्योर कर पाएंगे


www.Ktgadgets.com


स्ट्रांग पासवर्ड का करें इस्तेमाल 

आज कल के स्मार्टफोन के दौर में एक स्ट्रांग  पासवर्ड  हर इंसान की जरूरत बन चूका है ,अक्सर लोग शिकायत करते है की वो बहुत सारे पासवर्ड याद नहीं कर सकतें हैं ,तो इसका एक सीधा सलूशन ये हैं की आप दो या एक ऐसे स्ट्रांग यूनिक पासवर्ड बनाएं जिसमे Special Characters और स्माल लेटर्स और एक कैपिटल लेटर और सिंबल के साथ यूनिक पासवर्ड बनाएं ,और उसे हर जगह इस्तेमाल करें ,ध्यान रहे आप ये पासवर्ड किसी के साथ शेयर न करें 

पासवर्ड बनाते समय ये रखें सावधानियां 

पासवर्ड ऊपरी दिए गए तरीको का इस्तेमाल कर के बना सकतें हैं पर ध्यान रहे की पासवर्ड में कोई ऐसी जानकारी न हो जिसका हैकर आईडिया लगा सके जैसे की आपकी जन्मतिथि ,आपका मोबाइल नंबर ,या फिर किसी घर के सदस्य या फ्रेंड का नाम जिसका कोई अंदाजा लगा सकें ऐसी किसी भी जानकरी का इस्तेमाल पासवर्ड बनाए में न करें ,| 

डिवाइस फाइंडर को  सेटअप करें

फाइंड माई आईफोन सिर्फ आपका फोन नहीं मिलने पर खोजने के लिए नहीं है।

अगर आपका डिवाइस किसी कारणवश गायब हो जाए, तो आपके काम आएगा लॉस्ट मोड। ऐसा करने से आपके फोन का स्क्रीन पासकोड के साथ लॉक हो जाएगा।

यह ऐप आईफोन के साथ आता है, लेकिन आपको इसे अपने फोन खोने से पहले सेटअप करना होगा। आप एक्स्ट्रा फोल्डर में फाइंड आईफोन ऐप को खोज सकते हैं। एक्टिवेशन लॉक के कारण कोई चोर आपके फोन को बेच नहीं पाएगा। उसके लिए तो फोन इस्तेमाल करने योग्य भी नहीं रह जाता। ऐप्पल आईडी जाने बिना इसे फिर से एक्टिवेट नहीं किया जा सकता।

अगर ये सारे तरीके  फेल हो जाएं, तो आप फोन के डेटा को अपने कंप्यूटर के जरिए भी डिलीट कर सकते हैं। हालांकि, ऐसा करने से सारा डेटा खो जाएगा।

बिल्कुल ऐसा ही विकल्प एंड्रॉयड फोन में तो नहीं है। लेकिन आप गूगल के एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर ऐप के साथ कई थर्ड पार्टी ऐप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।



सॉफ्टवेयर को अपडेट रखें 
सॉफ्टवेयर अपडेट में हमेशा उन कमियों को दूर किया जाता है जिनका फायदा हैकर उठाकर आपके डिवाइस के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं।

आईफोन पर तो ऐप्पल का अपडेट लगातार मिलता रहता है। हालांकि, एंड्रॉयड सिस्टम पर यह थोड़ा पेंचीदा है। गूगल अपडेट मोबाइल निर्माता कंपनियों के लिए रिलीज करती है। इसके बाद ये कंपनियां अपनी सुविधा अनुसार अपडेट को यूज़र तक पहुंचाने के बारे में फैसला करती हैं। लेकिन आपसे जब भी अपडेट के बारे में पूछा जाए तो उसे ज़रूर इंस्टॉल करें।

इनक्रिप्शन 
आईफोन के साथ अच्छी बात यह है कि यह डिफॉल्ट में इनक्रिप्शन चलाता है। इसका मतलब है कि फोन पर स्टोर किए गए डेटा को निकाला नहीं जा सकता। या फिर उसे दूसरे कंप्यूटर पर पढ़ा नहीं जा सकता। जब तक फोन को अनब्लॉक नहीं किया जाए तब तक फोन से ली गई जानकारियां बिखरी हुईं हैं और पठनीय नहीं होती।

एंड्रॉयड में आपको यह सेटिंग्स में जाकर एक्टिवेट करना होगा। गूगल की पॉलिसी में इनक्रिप्शन उपलब्ध कराने का ज़िक्र है। लेकिन मार्केट में सिर्फ 2.3 एंड्रॉयड डिवाइस इस वर्ज़न में चल रहे हैं।

 फोन का बैकअप बनाएं
अगर आप को मजबूरी में रिमोट सिस्टम से फोन का डेटा डिलीट करना पड़े तो फोन का बैकअप बनाते रहना एक अच्छी आदत साबित होगी। ऐसा करने से आप फोटो या फिर कोई महत्वपूर्ण डेटा नहीं खोएंगे।

ध्यान रहे कि फाइंड माई आईफोन और एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर को आपको पहले ही इंस्टॉल करना होगा। फोन खो जाने के बाद आप कुछ नहीं कर पाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads1-ad

Technical Life Style

अमेरिका की एक बैंक एचएसबीसी ने न्यूयॉर्क स्थित फ्लैगशिप पर रोबोट को तैनात कर दिया इस रोबोट का नाम पेपर है यह रोबोट बैंक में आने वाले...