adch

ads-vi

मंगलवार, 3 अप्रैल 2018

'/>

जानिए कैसे वर्चुअल आधार कार्ड जनरेट करते हैं और क्यों है ज्यादा सुरक्षित


  
भारत में हर एक चीज़ गवर्नमेंट को आधार से जोड़ने की बात कर रही है बैंक अकाउंट मोबाइल नंबर और बहुत कुछ धीरे-धीरे आधार के छोड़ दी जा रही है ऐसे में हर जगह अपना आधार कार्ड देने में लोगों को असुरक्षा महसूस करने लगे हैं 

तो इस परेशानी को हल करने के लिए यूआईडीएआई ने एक वर्चुअल आधार कार्ड सिस्टम बनाया है यह कार्ड आपकी आधार कार्ड की जगह पर काम करेगा जैसे कि बैंक ट्रांजेक्शन के लिए ई-केवाईसी और अन्य तमाम सारी जगहों पर जरूरत आधार कार्ड के स्थान पर यह वर्चुअल कार्ड आप दे कर के अपना काम कर सकते हैं और अपने आधार कार्ड की सुरक्षा बनाए रख सकते हैं

क्या है वर्चुअल ID


वर्चुअल ID एक 16 अंकों की संख्या है जो आपके आधार नंबर से लिंक होता है यह नंबर अस्थाई होता है जो कि बदलता रहता है vid यानी कि वर्चुअल ID की मदद से आपको 12 अंकों के आधार नंबर की बजाय 16 नवंबर की वर्चुअल ID देनी होगी|



क्यों है खास

वर्चुअल ID एक तरह की डिजिटल ID है जिस तरह आप आधार कार्ड इस्तेमाल करते हैं उसी तरह आप वर्चुअल कार्ड इस्तेमाल कर पाएंगे यह बनाना आधार कार्ड उपभोक्ता खुद कर सकता है आधार कार्ड नंबर को साझा करने के बजाए वर्चुअल ID का इस्तेमाल ज्यादा सुरक्षित रहता है यूआईडीएआई ने मौजूदा समय में वर्चुअल ID एक दिन के लिए वैध है 1 दिन के बाद आपको फिर से इसे जनरेट करना होगा|
  
इन तरीकों से करें वर्चुअल ID जनरेट


१-आधार वर्चुअल ID को जनरेट करने के लिए यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाएं



2-यहां आपको आधार सर्विस बटन में वर्चुअल ID जनरेटर ऑप्शन दिखेगा इस पर क्लिक करें यह प्रक्रिया तभी संभव है जब रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर आपका आधार से लिंक होगा ऐसा इसलिए क्योंकि यहां आपको रजिस्टर मोबाइल नंबर से एक टाइम पासवर्ड यानी किओ टीपी देना होगा


3-आधार नंबर और ओटीपी और सिक्योरिटी कोड के ऑप्शन को भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दें




4-इसके बाद आपका वर्चुअल ID जनरेट हो जाएगा|

Tags:

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads1-ad

Technical Life Style

अमेरिका की एक बैंक एचएसबीसी ने न्यूयॉर्क स्थित फ्लैगशिप पर रोबोट को तैनात कर दिया इस रोबोट का नाम पेपर है यह रोबोट बैंक में आने वाले...